11 राजपूत योद्धा जिन्होंने जीते-जी कभी अपने मान-सम्मान से समझौता नहीं किया

इतिहासकाल मे RAJPUT/RAJPUTNA वंश ने हमें कई शक्तिशाली योद्धा और राजा दिये हैं.

rajput

राजपूत हिंदुस्तान का वो शक्तिशाली वंश जिसने लंबे समय तक देश पर राज किया. 7वीं से लेकर 12वीं शताब्दी के युग को ‘राजपूत युग’ भी कहा गया है. इतिहासकाल में इस वंश ने हमें कई शक्तिशाली योद्धा और राजा दिये हैं. इतिहास के पन्नों में राजपूतों के मान-सम्मान और बहादुरी के क़िस्से भी दर्ज हैं. अगर आप राजस्थान जैसे राज्यों में जायें, तो राजपूती चमक देखने को मिलेगी.

राजपूत वंश की सबसे अच्छी बात है कि ये कल भी अपने कर्मों से देश का नाम रौशन कर रहे थे और आज भी. चलिये इसी बात पर इतिहास के लोकप्रिय राजपूतों से मिल लेते हैं|

रावल जैसल सिंह

11 राजपूत योद्धा जिन्होंने जीते-जी कभी अपने मान-सम्मान से समझौता नहीं किया

महारावल जैसल सिंह जैसलमेर के एक यदुवंशी भाटी राजपूत थे. 12वीं शताब्दी के दौरान जैसल सिंह ने ही जैसलमेर की स्थापना की थी

राजा रावल रतन सिंह

11 राजपूत योद्धा जिन्होंने जीते-जी कभी अपने मान-सम्मान से समझौता नहीं किया

रतन सिंह मेवाड़ के एक बहादुर राजा थे. राजा ने चित्तौड़गढ़ की घेराबंदी के दौरान अलाउद्दीन खिलजी के ख़िलाफ़ निडरता से लड़ाई लड़ी थी.

राव जोधा

11 राजपूत योद्धा जिन्होंने जीते-जी कभी अपने मान-सम्मान से समझौता नहीं किया

राव जोधा मारवाड़ के राजा थे. वो एक बहादुर शासक होने के साथ-साथ जोधपुर के संस्थापक भी थे

महाराणा प्रताप

11 राजपूत योद्धा जिन्होंने जीते-जी कभी अपने मान-सम्मान से समझौता नहीं किया

महाराणा प्रताप हिंदुस्तान के उन वीर योद्धाओं में हैं, जिनकी कहानियां हम बचपन से पढ़ते आये हैं. महाराणा प्रताप राजपूत वंश के थे और आज हर हिंदुस्तानी को उन पर गर्व है.

रानी पद्मिनी

11 राजपूत योद्धा जिन्होंने जीते-जी कभी अपने मान-सम्मान से समझौता नहीं किया

रानी पद्मावती चितौड़ के राजा रावल रत्नसिंह की रानी थीं. ऐसा कहा जाता है खिलजी के हमले के समय उन्होंने अपने सम्मान की रक्षा करते हुए, 1303 में जौहर कर लिया था.

मान सिंह तोमर

11 राजपूत योद्धा जिन्होंने जीते-जी कभी अपने मान-सम्मान से समझौता नहीं किया

मान सिंह तोमर ग्वालियर के एक राजपूत तोमर शासक थे, जिन्हें 1486 के दौरान राज सिंहासन पर बैठाया गया था.

दुर्गादास राठौर

11 राजपूत योद्धा जिन्होंने जीते-जी कभी अपने मान-सम्मान से समझौता नहीं किया

मेवाड़ के दुर्गादास राठौर के कारण ही मारवाड़ पर राठौड़ वंश का शासन कायम रहा |

महाराजा गुलाब सिंह

11 राजपूत योद्धा जिन्होंने जीते-जी कभी अपने मान-सम्मान से समझौता नहीं किया

राजपूत वंश के महाराजा गुलाब सिंह जम्मू-कश्मीर के पहले महाराजा बने थे. अपने शासनकाल के दौरान उन्होंने कभी भी राजपूतों के सम्मान पर आंच नहीं आने दी.

राणा सांगा

11 राजपूत योद्धा जिन्होंने जीते-जी कभी अपने मान-सम्मान से समझौता नहीं किया

मेवाड़ के राणा सांगा ने ही इब्राहिम लोदी और बाबर के खिलाफ़ लड़ाई लड़ कर वीरता का परिचय दिया था.

महाराजा सर गंगा सिंह

11 राजपूत योद्धा जिन्होंने जीते-जी कभी अपने मान-सम्मान से समझौता नहीं किया


महाराजा सर गंगा सिंह एक आधुनिक सुधारवादी दूरदर्शी थे. इसके अलावा वो प्रथम विश्व युद्ध के दौरान ब्रिटिश शाही युद्ध मंत्रिमंडल के एकमात्र गैर-श्वेत सदस्य भी थे|

पॉलिटिक्स हो, क्रिकेट हो, हॉकी हो या फिर हो एक्टिंग, राजपूत लोग हर जगह सम्मान के साथ काम करना जानते हैं. इस पर सबको गर्व होना चाहिये.

Leave a Reply

Your email address will not be published.