पूरे दिल्ली नया MRP, शराब और बियर 25% हुआ सस्ता, मात्र 95 रुपए में मिलेगा बोतल

शराब और बियर
Wine & beer shop Delhi

नई आबकारी नीति के तहत दिल्ली में बाजार के प्रमुख हिस्सेदारी वाले बीयर के ब्रांड सस्ते हो गए हैं। इसमें प्रमुख नाम किंगफिशर का है। यह बीयर 25 प्रतिशत सस्ती हो गई है। इसके साथ ही बडवाइजर, बीरा बीयर भी पहले से सस्ती हो गई हैं। ये ब्रांड पंजीकृत हो गए हैं और ये बाजार में उपलब्ध हैं।हेवर्ड-5000 भी सस्ती हो गई है। अब पंजीकृत हो गई है। यह एक या दो दिन में बाजार में आ जाएगी। इनके दबदबे की बात करें तो बीयर के मामले में किंगफिशर की बाजार में 80 हिस्सेदारी है। यह बीयर 30 रुपये सस्ती हो गई है। यह पहले 125 रुपये की थी जो अब 95 रुपये की हो गई है। बीरा जो पहले 150 की बोतल थी, यह अब 130 की हो गई है।

इसी कड़ी में बडवाइजर भी 140 से घटकर 130 की हो गई है और हेवर्ड-5000 भी 140 से घटकर 130 की हो गई है। दिल्ली में बीयर के 50-60 के करीब ब्रांड हैं, मगर बाजार में इन्हीं ब्रांड का दबदबा है। इसी तरह शराब का पापुलर ब्रांड टीचर्स पर 120 रुपये कम हो गए हैं। यह पहले 1560 रुपये की थी जो अब घटकर 1440 की रह गई है। वहीं शराब के अन्य ब्रांड पांच से लेकर सात प्रतिशत महंगे हुए हैं।

गौरतलब है कि दिल्ली में पिछली बार शराब व बीयर आदि को मिलाकर 1100 ब्रांड पंजीकृत थे, मगर इस बार 527 ब्रांड पंजीकृत हुए हैं। हालांकि अभी ब्रांड पंजीकृत होने का काम जारी है, मगर ब्रांड अधिक बढ़ सकेंगे इसकी उम्मीद कम है। क्योंकि इस बार ब्रांड के पंजीकरण की फीस अधिक बढ़ गई है और इस वित्त वर्ष के चार माह ही बचे हैं, इसलिए बहुत के ब्रांड पंजीकृत नहीं हो रहे हैं।

वहीं, विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी कहते हैं कि सभी पापुलर ब्रांड पंजीकृत हो चुके हैं। वह कहते हैं कि पिछले सालों में 1100 से अधिक ब्रांड पंजीकृत जरूर थे, मगर बाजार में 99 प्रतिशत हिस्सेदारी 319 ब्रांड की थी। ये सभी ब्रांड 527 ब्रांड में शामिल हैं। 700 ब्रांड की हिस्सेदारी एक प्रतिशत थीे।

उधर दिल्ली में जगह जगह हो रहे विरोध के चलते शराब की नई दुकानें खोलने का अभियान धीमा पड़ गया है। नवंबर में सभी 849 दुकानें खुल जानी थीं, 17 नवंबर से अब तक एक माह बीत जाने के बावजूद अभी तक 480 दुकानें खुल सकी हैं। अभी दुकानें खोले जाने का सिलसिला जारी है, मगर जनता के विरोध के कारण शराब की दुकानों के संचालकों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.