नोएडा के रुद्राक्ष की अपनों ने नहीं की मदद, अब परिवार गांव-गांव जाकर जुटा रहा पैसे

नोएडा (Noida news) के रहने वाले और रुद्राक्ष (Noida Rudraksha) के पिता कपिल ने बताया है कि अब तक हमारे पास डोनेशन के माध्यम से करीब 52 लाख रुपये ही इकट्ठे हुए हैं। उन्हें रुद्राक्ष के इलाज (Spinal muscular atrophy treatment) के लिए 18 करोड़ रुपये चाहिए।

माता-पिता को अपने बच्चे से प्यारा कोई नहीं होता। अगर बच्चे को जरा सी भी खरोंच आ जाए तो अभिभावक कुछ भी करके उसे बचाने में जुट जाते हैं। ऐसी ही कहानी नोएडा के तीन साल के रुद्राक्ष बैसोया की है। वह स्पाइनल मस्क्युलर अट्रोफी-2 बीमारी से जूझ रहा है। बच्चे को 18 करोड़ रुपये का एक इंजेक्शन लगना है।

नोएडा के रुद्राक्ष की अपनों ने नहीं की मदद, अब परिवार गांव-गांव जाकर जुटा रहा पैसे

इलाज न मिलने से बच्चे की तबीयत दिन-प्रतिदिन बिगड़ रही है। परिवार के सदस्य मदद के लिए पीएम, सीएम, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री, सांसद और जिले के तीनों विधायकों से गुहार लगा चुके हैं, लेकिन सिवाए आश्वासन के कुछ नहीं मिला है। डॉक्टरों ने इंजेक्शन लगाने के लिए जून के पहले सप्ताह की तारीख सुनिश्चित कर दी है। ऐसे में परिवार अपनों से उम्मीद छोड़कर मंदिर और गांव-गांव जाकर पैसे एकत्र करने में जुट गया है।

गले में अटके बलगम से बढ़ी परेशानी
रुद्राक्ष के पिता कपिल बैसोया ने बताया कि उसके गले में बलगम जमा हो रहा है। इससे उसे सांस लेने में दिक्कत होने लगी है। तीन साल की उम्र में बच्चा घर पर ऑक्सिजन के भरोसे रह रहा है। उन्होंने बताया कि रात के समय सांस लेने में ज्यादा दिक्कत है।

डोनेशन से मिले सिर्फ 2 करोड़ रुपये
कपिल ने बताया है कि अब तक हमारे पास डोनेशन के माध्यम से करीब 2 करोड़ रुपये ही इकट्ठे हुए हैं। बच्चे के इलाज के लिए दोस्तों और समाज से जुड़े लोगों के साथ-साथ मंदिर और गांवों में जाकर पैसे इकट्ठे कर रहा हूं।

गद्दी पर बैठे लोगों का नहीं मिल रहा सपॉर्ट
समाज से सपोर्ट मिल रहा है, लेकिन जो गद्दी पर बैठे है उनसे कोई मदद नहीं मिल रही है। उन्होंने बताया कि पिछले दिनों चर्चित यू-ट्यूबर अमित भड़ाना ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर बच्चे के साथ विडियो बनाकर डाला था, साथ ही मदद के लिए डोनेशन की बात की थी। अब जल्द ही गुड़गांव के बॉबी कटारिया भी बच्चे से मिलने आ रहे हैं।

नोएडा के रुद्राक्ष की अपनों ने नहीं की मदद, अब परिवार गांव-गांव जाकर जुटा रहा पैसे

Leave a Reply

Your email address will not be published.