थाइलैंड में नींद की कमी के चलते एक 18 साल के युवक की मौत हो गई.

थाइलैंड, Thailand

थाइलैंड: इस शख्स की मां ने इस बारे में बात करते हुए कहा कि मेरे बेटे को रात-रात भर जगने की आदत थी और वो सुबह तक गेम्स खेलता रहता था. अगर उसे कंप्यूटर ना मिले तो वो मोबाइल फोन पर गेम्स खेलने लग जाता था.

उन्होंने आगे कहा कि वो अपने बेटे के रुम के बगल वाले कमरे में सोती थीं. उन्होंने कहा कि मुझे सिर्फ आधी रात को उसके बाथरूम से आवाज आती थी क्योंकि वो रात को नहाता था. इसके बाद वो अपने बेडरुम का दरवाजा बंद कर पूरी रात गेम खेलता था. हालांकि एक रात मैं परेशान हो गई क्योंकि वो अपना फोन नहीं उठा रहा था.

जिंग ने कहा कि वो ना फोन उठा रहा था और ना ही अपने कमरे का दरवाजा खोल रहा था. इसके बाद मैंने पड़ोसियों से मदद ली थी. हमने फिर उसके दरवाजे को खोला था. मैंने देखा कि मेरा बेटा शर्टलेस हालातों में बेसुध पड़ा हुआ है. उसका मोबाइल उसके पास ही पड़ा हुआ था. मैंने कभी नहीं सोचा था कि मेरे बेटे के गेम के चलते ऐसे हालात हो जाएंगे.

इस मामले में बात करते हुए पुलिस ने कहा कि ऐसी संभावना है कि इस युवक की मौत दिल का दौरा पड़ने से हुई हो क्योंकि ये साफ है कि ये लड़का बहुत ही कम सोता सोता था. इसके अलावा उसे सुबह उठकर स्कूल भी जाना होता था. उसकी बॉडी को पर्याप्त रेस्ट नहीं मिल रहा था जिसके चलते उसकी मौत हुई है.

Thailand #Games #mobilegames #gaming #sleepdeprivation #ATCard

Leave a Reply

Your email address will not be published.